अधिक कोण की परिभाषा-वे कोण जो 90० से अधिक और 180० से छोटे…

इस आर्टिकल अधिक कोण (Obtuse angle) की परिभाषा आसान शब्दों में बताया जो लम्बे समय तक याद रखने में आसानी होगी।

अधिक कोण की परिभाषा

वे कोण जो 90० से अधिक और 180० से छोटे होते है। अधिक कोण (Obtuse angle) कहलाते है।  

अधिक कोण की परिभाषा-वे कोण जो 90० से अधिक और 180० से छोटे

या 90० और 180० के मध्य कोणों को adhik kon की श्रेणी में रखा गया है। 

जैसा कि निम्न चित्रा में कोण 90० और 180० के मध्य पाँच कोण क्रमशः 120०, 135०, 145०, 160० और 165० दर्शाये गए है जो adhik kon की श्रेणी में आते है। 

अधिक कोण किसे कहते हैं

निम्न प्रशनो में चार विकल्प दिए गए है। आप को यह तय करना है की उनमे कौन adhik kon की श्रेणी में आता है।

Q1

अधिक कोण किसे कहते हैं, अधिक कोण का मान

Ans- (b)  

Q2

अधिक कोण क्या है

Ans-(a)  

Q3

अधिक कोण की परिभाषा-वे कोण जो 90० से अधिक और 180० से छोटे... 1

Ans-(a)

निम्न प्रश्नों में चार कोण दिए गए है। आप को तय करना की कौन सा adhik kon है।  

Q4 35°, 40°, 70°, 120° ?  

  1. 40°
  2. 70°
  3. 35°
  4. 120°

Ans- 120°    

Q5 140°, 180°, 235°, 275°?

  1. 235°
  2. 140°
  3. 180°
  4. 275°

Ans-140°  

Q6 23.3°, 255.5°, 138.8°, 195.7°?  

  1. 138.8°
  2. 23.3°
  3. 255.5°
  4. 195.7°

Ans- 138.8°  

Q7 (35-25)°, (180-40)°, (270-60)°, (45-15)°  

  1. (180-40)°
  2. (35-25)°
  3. (270-60)°
  4. (45-15)°

Ans- (180-40)°  

Q8 (220-40)°, (180-40)°, (70-30)°, (280-80)°  

  1. (180-40)°
  2. (220-40)°
  3. (70-30)°
  4. (280-80)°

Ans- (180-40)°  

संपूरक कोण पतंगाकार चतुर्भुज
आयत न्यून कोण
वृहत कोण पूरक कोण
अधिक कोण ऋजु कोण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *