डीसी मोटर बनाने की विधि घर पर आसानी से कम खर्च पर विज्ञानं प्रोजेक्ट के किये बनाये

Spread the love

 

नमस्कार दोस्तों आपको इस आर्टिकल में डीसी मोटर बनाने की विधि के विषय में संपूर्ण जानकारी दी गई है इन विधि  का अनुसरण करके आप डीसी मोटर अपने घर पर बना सकते हैं
डीसी मोटर बनाने की विधि

डीसी मोटर बनाने की विधि के लिए आवश्यक सामग्री

 
  • कॉपर का तार
  •  चुंबक
  •  लकड़ी
  •  बैटरी
  •  तार
  • बालू पेपर
  •  कटर
  •  हुक

 

डीसी मोटर बनाने की विधि का स्टेप 2 कॉपर Coil का निर्माण

डीसी मोटर बनाने की विधि का स्टेप 2 कॉपर Coil का निर्माण
 
 
  1. वायर कटर की सहायता से कॉपर के तार को तीन से चार फीट तक काट ले
  2. अब आप कॉपर के तार को शुष्क सेल पर लपेटना शुरू करें यदि शुष्क सेल उपलब्ध ना हो तो उसके स्थान पर किसी ऐसी बेलनाकार वस्तु का प्रयोग करें कॉपर Coil लपेटते समय शुरू और अंत में 2 से 3 इंच छोड़ना ना भूलें 
    मेटल रोड
  3. कॉपर के तार को शुष्क सेल पर अच्छी तरह लपेटे हमें उम्मीद है कि आप यह कार्य अच्छी तरह कर लेंगे
  4. तार को कम से कम 15 से 20 बार लपेटे शुरू, अंत में 2 से 3 इंच छोड़ दे
  5. तार लपेटने के पश्चात उसे बाहर निकालें आप देखेंगे कि एक स्प्रिंग जैसी संरचना अब बचे हुए तार से दो जगहों पर बांध दें
  6. कॉपर के तार पर विद्युत कुचालक का लेप लगा होता है क्वायल के दोनों सिरों को बालू पेपर की सहायता से रगड़ कर कुचालक लेप को हटा दें जिससे क्वायल में विद्युत का संचार हो सके

डीसी मोटर बनाने की विधि स्टेप 3 ढ़ाचा तैयार करना

  1. 8 से 9 इंच लकड़ी का लॉक ले
  2. इस पर 4 इंच दो लकड़ी के स्तंभ खड़ा करें
  3. लकड़ी के स्तंभ को खड़ा करने के पश्चात उनके ऊपरी सिरों पर L आकार की पिन लगा दे
    यह पिन धातु की बनी होनी चाहिए क्योंकि धातु विद्युत के सुचालक होते हैं
  4. बने हुए कॉपर Coil को पिन के सहारे अटका दें ध्यान रहे की कॉपर Coil का वह हिस्सा पिन के संपर्क में होना चाहिए जिस हिस्से का कुचालक पदार्थ बालू पेपर सहायता से हटाया गया था ताकि जब पिन में विद्युत धारा प्रवाहित की जाए तो धारा पिन से होते हुए कॉपर क्वायल में पहुंचे
  5. चित्र अनुसार क्वायल के नीचे चुम्बक को रख दे

डीसी मोटर बनाने की विधि स्टेप 3 तारो को जोड़ना

  1. लगभग आधा मीटर के दो तार ले
  2. दोनों तारों एक सिरे लकड़ी के स्तंभ में लगी पिन से जोड़ दें
  3. इनका दूसरा सिरा बैटरी के धनात्मक और ऋणआत्मक पोल से जोड़ दें
    जोड़ने के पश्चात Coil में धारा प्रवाहित होने लगेगी चुंबकीय फ्लक्स उत्पन्न होने के कारण क्वायल तेजी से घूमने लगेगा

You may also like

This Post Has One Comment

Leave a Reply