Site icon SSC Competitve Questions

पतंगाकार चतुर्भुज की परिभाषा, गुणधर्म, परिमाप, परिमाप सूत्र, क्षेत्रफल, क्षेत्रफल सूत्र

पतंगाकार चतुर्भुज की परिभाषा

पतंगाकार चतुर्भुज की आसन भुजाएं बराबर होती है और विकर्ण लंबवत होते हैं| 

गुणधर्म 

1 .इसके आसन्न भुजाएं समान होती है| जैसा कि उपरोक्त चित्र में दिखाया गया है| चतुर्भुज ABCD में भुजा BC = CD और AB = AD हैं|

2 . इसके दोनों विकर्ण की लंबाई है समान नहीं होती है| विकर्ण AC ≠ AD 

3 . इसकी भी विकर्ण एक दूसरे को  समकोण पर काटते हैं|

4 . इसमे बने कोण ∠ABC = ADC लेकिन ∠BCD ≠ ∠BAD

5 . विकर्ण AC विकर्ण BD को बराबर भागो में बाटता है| रेखा BO = OD

6 . विकर्ण AC से बनने वाले त्रिभुज ABC और त्रिभुज ADC सर्वागसम होगे|

7 . विकर्ण AC इस को दो बराबर भागो में बाटता है|

8 .  कोण ∠DBC = ∠CDB

9 .  कोण ∠BCO = ∠BCA = ∠DCO = ∠DCA 

10 . कोण ∠ABD = ∠ABO = ∠ADO = ∠ADB

11 . कोण ∠BAO = ∠DAO = ∠BAC = ∠DAC

पतंगाकार चतुर्भुज का परिमाप

चारो भुजाओ की लम्बाई का योगफल ही इस चतुर्भुज का परिमाप होगा|

परिमाप सूत्र

परिमाप = AB + BC + CD + DA =  a + b + a + b 

पतंगाकार चतुर्भुज का क्षेत्रफल

दोनों विकर्ण की लम्बाई के गुणनफल का आधा इस चतुर्भुज का क्षेत्रफल होता है|

क्षेत्रफल सूत्र

क्षेत्रफल का सूत्र = 12 x d1 x d2 = ab sinፀ

  1. इस चतुर्भुज की दो भुजाये a, b क्रमशः 5 cm और 6 cm है| तो परिमाप होगा?

हल – परिमाप सूत्र = 2(5+6) = 22 cm

समचतुर्भुज समान्तर चतुर्भुज
आयत वर्ग
Exit mobile version