पूर्ण संख्या किसे कहते हैं? इसकी परिभाषा, प्रकार, गुण, उदहारण और लिस्ट PDF में

सभी धनात्मक पूर्णांकों और शून्य पूर्ण संख्या की श्रेणी में आते है। इनमे भिन्न, दशमलव, और ऋणात्मक संख्याएँ शामिल नहीं होती है। सभी प्राकृतिक संख्याएँ पूर्ण संख्याएँ होती है। हम इस अध्याय में पूर्ण संख्या किसे कहते है? इसकी परिभाषा, प्रकार, गुण, उदहारण और 1 से 100 तक की सभी पूर्ण संख्याओं की PDF सहित लिस्ट के बारे में जानेगे।

वैसे तो गणितीय भाषा में संख्याएँ कई प्रकार की होती है, जैसे प्राकृतिक संख्या, पूर्ण संख्या, भाज्य संख्या, अभाज्य संख्या, सम संख्या विषम संख्या आदि लेकिन इस अध्याय में हम पूर्ण संख्या के बारे में जानेगे।

Table of Contents

पूर्ण संख्या किसे कहते हैं?

0 से अनंत तक की सभी धनात्मक संख्याओं को पूर्ण संख्या कहते है। इनमे भिन्न, दशमलव, ऋणात्मक आदि संख्याएँ शामिल नहीं है। सरल शब्दों में शून्य और सभी प्राकृतिक संख्याओं का समुच्चय को पूर्ण संख्या कहते है। हालांकि, शून्य एक अपरिभाषित पहचान है जो एक शून्य सेट या कोई परिणाम नहीं दर्शाता है।

पूर्ण संख्या की परिभाषा

0 के साथ प्राकृतिक संख्याओं का समुच्चय की पूर्ण संख्या होती है। जैसे – 0, 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ………..∞

 पूर्ण संख्या किसे कहते है ?
पूर्ण संख्या

0 से अनंत तक की सभी धनात्मक समुच्चय को पूर्ण संख्या कहते है। 1 से अनंत तक की सभी धनात्मक संख्याओं को प्राकृतिक संख्याएँ होती है, अतः हम यह कह सकते है की सभी प्राकृतिक संख्याएँ पूर्ण संख्या होती है। लेकिन सभी पूर्ण संख्याएँ प्राकृतिक संख्याएँ होती है।

  • सभी प्राकृत संख्याएँ पूर्ण संख्याएँ होती हैं।
  • सभी गिनती वाली संख्याएं पूर्ण संख्याएं होती हैं।
  • शून्य के साथ सभी धनात्मक पूर्णांक पूर्ण संख्याएँ होती हैं।
  • सभी पूर्ण संख्याएँ वास्तविक संख्याएँ होती हैं।

पूर्ण संख्या के गुण

पूर्ण संख्याओं पर मूल संक्रियाएँ: जोड़, घटाव, गुणा और भाग, पूर्ण संख्याओं के चार मुख्य गुणों की ओर ले जाते हैं, जो नीचे सूचीबद्ध हैं:

क्लोजर प्रॉपर्टी (Closure Property)
संबंधी संपत्ति (Associative Property)
क्रमचयी गुणधर्म (Commutative Property)
वितरण की जाने वाली संपत्ति (Distributive Property)

क्लोजर प्रॉपर्टी (Closure Property)

दो पूर्ण संख्याओं का योग और गुणनफल हमेशा एक पूर्ण संख्या होती है। उदाहरण के लिए, 7 + 3 = 10 (पूर्ण संख्या), 7 × 2 = 14 (पूर्ण संख्या)

संबंधी संपत्ति (Associative Property)

किन्हीं तीन पूर्ण संख्याओं का योग या गुणनफल वही रहता है, भले ही संख्याओं का समूह बदल दिया जाए। उदाहरण के लिए, जब हम निम्नलिखित संख्याओं को जोड़ते हैं तो हमें वही योग मिलता है: 10 + (7 + 12) = (10 + 7) + 12 = (10 + 12) + 7 = 29। इसी तरह, जब हम निम्नलिखित संख्याओं को गुणा करते हैं तो हम एक ही उत्पाद प्राप्त करें चाहे संख्याओं को कैसे समूहित किया जाए: 3 × (2 × 4) = (3 × 2) × 4 = 24।

क्रमचयी गुणधर्म (Commutative Property)

दो पूर्ण संख्याओं का योग और गुणन संख्याओं के क्रम को बदलने के बाद भी वही रहता है। यह गुण बताता है कि जोड़ के क्रम में परिवर्तन योग के मूल्य को नहीं बदलता है। मान लें कि ‘a’ और ‘b’ कम्यूटेटिव प्रॉपर्टी a + b = b + a के अनुसार दो पूर्ण संख्याएं हैं। उदाहरण के लिए, a = 10 और b = 19 10 + 19 = 29 = 19 + 10. इसका अर्थ है कि पूर्ण संख्याएँ योग के अंतर्गत बंद हैं। यह गुण गुणन के लिए भी सही है, लेकिन घटाव या भाग के लिए नहीं। उदाहरण के लिए: 7 × 9 = 63 और 9 × 7 = 63।

वितरण की जाने वाली संपत्ति (Distributive Property)

यह गुण बताता है, कि एक पूर्ण संख्या के गुणन को पूर्ण संख्याओं के योग में वितरित किया जाता है। इसका अर्थ है, कि जब दो संख्याओं, उदाहरण के लिए a और b को समान संख्या c से गुणा किया जाता है, और फिर जोड़ दिया जाता है, तो समान उत्तर प्राप्त करने के लिए a और b के योग को c से गुणा किया जा सकता है। इस स्थिति को इस प्रकार दर्शाया जा सकता है: a × (b + c) = (a × b) + (a × c)। मान लीजिए a = 10, b = 20 और c = 7 10 × (20 + 7) = 270 और (10 × 20) + (10 × 7) = 200 + 70 = 270। वही गुण घटाव के लिए भी सही है। . उदाहरण के लिए, हमारे पास एक × (बी – सी) = (ए × बी) – (ए × सी) है। मान लीजिए a = 10, b = 20 और c = 7 10 × (20 – 7) = 130 और (10 × 20) – (10 × 7) = 200 – 70 = 130।

संख्या क्या है? संख्या के प्रकार वास्तविक संख्या
अभाज्य संख्यापूर्णांक संख्या
पूर्ण संख्याविषम संख्या
पूर्ण संख्या और पूर्णांक संख्याप्राकृतिक संख्या
सम संख्या और विषम संख्या

1 से 100 तक की पूर्ण संख्याएँ

1 से 100 तक की पूर्ण संख्याएँ
1 से 100 तक की पूर्ण संख्याएँ

1 से 100 तक की पूर्ण संख्याएँ पीडीऍफ़ में डाउनलोड करे।

प्राकृत और पूर्ण संख्या में अंतर

पूर्ण संख्याप्राकृतिक संख्या
पूर्ण संख्या 0 से अनंत तक होती है। प्राकृतिक संख्या 1 से अनंत तक होती है।
सबसे छोटी पूर्ण संख्या 0 है। सबसे छोटी प्राकृतिक संख्या 1 है।
सभी पूर्ण संख्याएँ प्राकृतिक संख्याएँ नहीं होती है। सभी प्राकृतिक संख्याएँ पूर्ण संख्याएँ नहीं होती है।
प्राकृत और पूर्ण संख्या में अंतर

पूर्ण संख्या और पूर्णांक में अंतर

पूर्ण संख्या पूर्णांक संख्या
0 से अनंत तक सभी धन संख्याएँ पूर्ण संख्या होती है। दसमलव, भिन्न, ऋणात्मक संख्याओं को छोड़कर सभी ऋणात्मक संख्याये और पूर्ण संख्याये पूर्णांक संख्या होती है।
यह ऋणात्मक नहीं हो सकती। यह ऋणात्मक होती है।
यह दसमलव नहीं सकती। यह दसमलव नहीं सकती।
यह भिन्न हो सकती है। यह भिन्न हो सकती है।

पूर्ण संख्या की गणना

स्फेरफाइएरफोई

पूर्ण संख्या कौन कौन सी होती है?

शून्य से अनंत तक की सभी संख्याएँ पूर्ण संख्या होती है।

पूर्ण संख्या कैसे निकाले?

शून्य से अनंत के बीच सभी धनात्मक संख्याएँ पूर्ण संख्याएँ होंगी ऋणात्मक, भिन्न, दसमलव संख्याओं को छोड़कर सभी संख्याएँ पूर्ण संख्या होगी।

सबसे छोटी पूर्ण संख्या कौन है?

सबसे छोटी पूर्ण संख्या 0 है।

क्या सभी प्राकृतिक संख्या पूर्ण संख्या है?

हाँ ! सभी प्राकृतिक संख्याएँ पूर्ण है, लेकिन सभी पूर्ण संख्या प्राकृतिक संख्या नहीं होती है।

क्या पूर्ण संख्या 1 से शुरू होती है?

नहीं ! सभी पूर्ण संख्याएँ 0 से शुरू होती है।

32 और 53 के बीच में कितनी पूर्ण संख्या है?

32 और 53 के बीच 33, 34, 35, 36, 37, 38, 39, 40, 41, 42, 43, 44, 45, 46, 47, 48, 49, 50, 51, 52 पूर्ण संख्याएँ है।

प्रथम पांच पूर्ण संख्या का माध्य क्या होगा?

प्रथम पांच पूर्ण संख्याएँ 0, 1, 2, 3, 4 माध्य 10/2 = 5, अतः प्रथम पांच पूर्ण संख्याओं का माध्य 5 है।

सबसे छोटी और सबसे बड़ी पूर्ण संख्या क्या है?

सबसे छोटी पूर्ण संख्या 0 और बड़ी संख्या अभी तक पता नहीं है, लेकिन सबसे बड़ी पूर्ण संख्या अनंत को कहा सकता है।

क्या शून्य पूर्ण संख्या है?

हाँ, 0 एक पूर्ण संख्या है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *